info.rsgio24@gmail.com | +91- 8222-08-3075

शुगर लेवल के साथ वजन घटाने के लिए भी जौ उपयोगी है, इस तरह से उपयोग करें

जौ के सेवन से कई स्वास्थ्य समस्याओं से राहत मिलती है और शरीर को संक्रमण से भी बचाता है। जौ शरीर को डिटॉक्स करने में भी मदद करता है।
जौ के कई स्वास्थ्य लाभ हैं। आजकल लोगों को अस्वस्थ खाने की आदत हो गई है और वे तैलीय भोजन और मसालेदार भोजन अधिक पसंद करते हैं। इन खाद्य पदार्थों का सेवन न केवल आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को कमजोर करता है बल्कि शरीर को कई अन्य तरीकों से भी नुकसान पहुंचाता है। ऐसे में जौ का सेवन आपके लिए बेहतर विकल्प साबित हो सकता है। जौ में फाइबर, विटामिन, खनिज और अन्य पोषक तत्व पाए जाते हैं।
इसके अलावा अगर आप जौ के पानी का सेवन करते हैं तो यह शरीर को हाइड्रेट रखने में भी मदद करता है। जौ शरीर के विषाक्त पदार्थों को नष्ट करता है और शरीर को डिटॉक्स करता है। फाइबर पाचन तंत्र के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है जो मल त्याग को स्वस्थ रखता है और कब्ज और दस्त जैसी समस्याओं को भी कम करता है। जौ एक घुलनशील फाइबर है जो आसानी से पानी में घुल जाता है और शरीर को ऊर्जा प्रदान करता है।
महिलाओं द्वारा 25 ग्राम और पुरुषों द्वारा 38 ग्राम जौ का दैनिक सेवन। जौ में वसा और चीनी की मात्रा कम होती है। इसके अलावा, इसमें घुलनशील फाइबर आंत में जाता है और वसा को एकत्र होने से रोकता है। इस प्रकार, यह आपको मोटे होने से रोकता है। रोजाना 2 से 3 गिलास जौ के पानी का सेवन फायदेमंद साबित हो सकता है। जौ में विटामिन, कैल्शियम और खनिज होते हैं जो हड्डियों को स्वस्थ और मजबूत रखते हैं।
जौ का सेवन ऑस्टियोसोरोसिस के खतरे को कम करता है और अन्य लक्षणों को भी कम करता है। जौ में दूध की तुलना में 11 गुना अधिक कैल्शियम होता है। जौ शरीर में रक्तचाप और कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित करता है। एक शोध के अनुसार, जौ का पर्याप्त सेवन हृदय को स्वस्थ रखता है और हृदय स्वास्थ्य को भी बेहतर बनाता है। जौ का मूत्रवर्धक प्रभाव होता है जो मूत्र पथ के संक्रमण को कम करता है और मूत्र के उत्पादन को कम करता है। यह एक बेहतरीन घरेलू उपाय है।