info.rsgio24@gmail.com | +91- 8222-08-3075

जीरा ब्लेड शुगर को नियंत्रित करने में काम आता है, यह उबकाई और कब्ज में भी राहत देता है।

जीरा में एंटीऑक्सीडेंट भरपूर मात्रा में होता है। इसमें एंटीबैक्टीरियल और एंटीसेप्टिक गुण होते हैं।
जीरे का इस्तेमाल आमतौर पर खाने का स्वाद बढ़ाने के लिए किया जाता है। लेकिन जीरा भोजन के स्वाद के साथ-साथ कई बीमारियों में भी रामबाण का काम करता है। कई लोग इसके औषधीय गुणों के कारण जीरे का उपयोग भोजन में भी करते हैं। काले रंग का जीरा कब्ज और एसिडिटी से राहत दिलाने के साथ-साथ ब्लड शुगर को नियंत्रित करने में मदद करता है। ऐसे कई रोगों से छुटकारा पाने के लिए जीरे का इस्तेमाल किया जाता है। आइए जानते हैं जीरे में मौजूद औषधीय गुण और इसके फायदे।
दरअसल, डीली पब्लिशिंग हाउस की किताब हीलिंग फूड्स के अनुसार, 'जीरा' में बहुत सारा एंटीऑक्सीडेंट होता है। इसमें एंटीबैक्टीरियल और एंटीसेप्टिक गुण होते हैं। जीरे के ये औषधीय गुण पेट की समस्याओं को रोककर पाचन तंत्र को मजबूत बनाते हैं। यह कब्ज और इमेटिक समस्याओं से छुटकारा पाने में मदद करता है। “जीरे में कई पोषक तत्व होते हैं जो हमारे इम्यून सिस्टम को मजबूत करके शरीर को स्वास्थ्य समस्याओं से बचाने में मदद करते हैं।
जीरे में लगभग 100 रासायनिक यौगिक होते हैं। इसमें विटामिन, खनिज, कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन और फैटी एसिड होते हैं। इसके साथ ही जीरा आयरन का अच्छा स्रोत है। जीरा रक्त में शर्करा के स्तर को कम रखने में मदद करता है। इसके साथ ही, यह शरीर में रक्त की पर्याप्त मात्रा को बनाए रखने में मदद करता है। इस लाभ के कारण, यह मधुमेह के रोगियों के लिए फायदेमंद है। हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक, पानी में जीरा मिलाकर पीने से डायबिटीज के मरीजों को बहुत फायदा होता है।
इम्यूनिटी बढ़ाने में मददगार: जीरे में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो शरीर में मौजूद फ्री रेडिकल्स से लड़ने में मदद करते हैं। जिसकी मदद से शरीर की प्रतिरोधक क्षमता में सुधार होता है। पाचन तंत्र को बेहतर बनाने में सहायक: पाचन के लिए जीरा का सेवन फायदेमंद होता है। जीरे में क्यूमिनलडिहाइड होता है जो लार का उत्पादन बढ़ाता है। यह पाचन में सुधार करने में मदद करता है।