info.rsgio24@gmail.com | +91- 8222-08-3075

मधुमेह के रोगियों को नाश्ते में दूध लेना चाहिए

डायबिटीज के दौरान दूध पीना बहुत फायदेमंद होता है। दूध में मौजूद तत्व ब्लड शुगर के स्तर को नियंत्रण में रखने में मदद करता है।
आज मधुमेह एक आम समस्या बन गई है। ऐसे में अपने खान-पान का ध्यान रखना आवश्यक है। मधुमेह से पीड़ित लोगों को बहुत सी चीजें खाने से पहले सोचने की जरूरत है। यदि वह अधिक मीठा खाता है, तो उसका मधुमेह और अधिक बढ़ जाएगा। बहुत से लोगों को इस बात की जानकारी नहीं है कि डायबिटीज के दौरान दूध पीना बहुत फायदेमंद होता है।
विशेषज्ञों का कहना है कि एक गिलास दूध में 8 ग्राम प्रोटीन होता है, जो न केवल मधुमेह के रोगियों के लिए बल्कि कई बीमारियों के लिए भी फायदेमंद है। दूध में कई अन्य पोषक तत्व मौजूद होते हैं जो शरीर को कई लाभ प्रदान करते हैं। दूध में कार्बोहाइड्रेट होता है और यही कारण है कि नाश्ते में दूध लेने से पाचन धीमा हो जाता है और इसके कारण रक्त शर्करा नियंत्रण बना रहता है। 
जर्नल ऑफ डेयरी साइंस के एक अध्ययन में यह बात सामने आई है कि नाश्ते के लिए दूध लेने से मोटापा नियंत्रण में रहता है, जो मधुमेह को भी ज्यादा प्रभावित नहीं करता है। इसके अलावा नाश्ते में दूध लेने से भूख को नियंत्रित करने में मदद मिलती है। रोजाना सुबह दूध पीने से रक्त शर्करा का स्तर नियंत्रण में रहता है। जर्नल ऑफ डेयरी साइंस में एक अध्ययन में, डगलस और उनकी टीम ने यह भी बताया कि नाश्ते में दूध के साथ उच्च कार्बोहाइड्रेट वाले कॉर्नफ्लेक्स खाना भी फायदेमंद है। 
इसे आहार में शामिल करने से मधुमेह नियंत्रण में रहता है और शरीर में कोई अतिरिक्त जमा नहीं होता है। दूध में अधिक मात्रा में कैल्शियम होता है जो हड्डियों और मांसपेशियों को मजबूत बनाने में मदद करता है। इससे पाचन में सुधार होता है। साथ ही, कब्ज और डायरिया जैसी समस्याएं भी कम हो जाती हैं। इससे शरीर को पर्याप्त पोषण मिलता है, जिससे शरीर को ऊर्जा मिलती है और थकान दूर होती है।