info.rsgio24@gmail.com | +91- 8222-08-3075

अगर डायबिटीज को नियंत्रित करना है, तो भोजन में इन बातो का ध्यान रखें

14 नवंबर को विश्व मधुमेह दिवस मनाया जाता है।
पूरी दुनिया में मधुमेह के रोगी बहुत तेजी से बढ़ रहे हैं और इस मामले में भारत दूसरे स्थान पर है। मधुमेह एक ऐसी बीमारी है जिसे अगर नियंत्रित नहीं किया जाता है, तो यह व्यक्ति को पूरी तरह से खोखला बना देती है। मधुमेह कमजोर चयापचय के कारण होता है, जिसके कारण शरीर में इंसुलिन सही मात्रा में बंद हो जाता है। डायबिटीज होने पर शरीर कमजोर होने लगता है और नींद भी ठीक से नहीं आती है। डायबिटीज के रोगियों को ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित करना चाहिए। खान-पान पर ध्यान देकर भी शुगर को नियंत्रित किया जा सकता है। आइए जानते हैं कि क्या खाने से आपको मधुमेह नियंत्रण में मदद मिलेगी।
चुकंदर बहुत पौष्टिक होता है और कई खनिजों और विटामिनों से भरपूर होता है। अगर आप मधुमेह से पीड़ित हैं तो आपको अपने भोजन में चुकंदर का सेवन करना चाहिए। आप इसे उबाल कर, कच्चा या सलाद के रूप में खा सकते हैं।
अमरूद में फाइबर होने के कारण यह मधुमेह के कारण होने वाली कब्ज को दूर करता है। यह मधुमेह टाइप -2 के खतरे को भी कम करता है। इतना ही नहीं, अमरूद में विटामिन-ए और विटामिन-सी भरपूर मात्रा में होता है।
डायबिटीज के मरीजों के लिए बिना दूध का बना दही बहुत फायदेमंद होता है। रोजाना इसे खाने से कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड का स्तर नियंत्रित रहता है। अच्छी मात्रा में दही खाने से टाइप 2 शुगर का खतरा कम हो जाता है।
अमला क्रोमियम में पाया जाता है, जो अग्न्याशय के लिए बहुत फायदेमंद है। आंवला में मधुमेह विरोधी तत्व होते हैं जो मधुमेह से लड़ने में मदद करते हैं।
पपीता मधुमेह में किसी औषधि से कम नहीं है। पपीते में प्राकृतिक एंटीऑक्सीडेंट होते हैं, जो मधुमेह में बहुत फायदेमंद होते हैं। पपीता शरीर में मौजूद कोशिकाओं को क्षतिग्रस्त होने से बचाता है।
जामुन का सेवन डायबिटीज में बहुत फायदेमंद है। क्योंकि जामुन ग्लूकोज को ऊर्जा में परिवर्तित करता है। जिसके कारण शरीर में पैदा होने वाला ग्लूकोज नियंत्रण में रहता है।
करेले में पोलीपेप्टाइड P नामक पादप इन्सुलिन पाया जाता है। यह ब्लड शुगर को नियंत्रण में रखने में मदद करता है। करेले को सब्जी या किसी भी तरह से पकाया जा सकता है। इसके अलावा आप करेले का जूस भी पी सकते हैं।
सेब में बड़ी मात्रा में फाइबर होता है। डायबिटीज में फाइबर बहुत कारगर साबित होता है। इसमें रासायनिक पेक्टिन भी होता है। जो शरीर में ग्लूकोज के स्तर को 50 प्रतिशत तक कम करने की क्षमता रखते हैं।
मधुमेह के रोगियों के लिए मेथी बहुत फायदेमंद है। मेथी के दाने फाइबर से भरपूर होते हैं और शरीर में इंसुलिन की मात्रा बढ़ाने में मदद करते हैं। इसके अलावा ये ब्लड शुगर लेवल को भी नीचे रखते हैं।
अनार में बड़ी मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं। अनार शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करके मधुमेह को नियंत्रित करने में मदद करता है।